gyanbooster logo
gyanbooster

सोशल मीडिया पर फिशिंग: पहचान और जोखिम से बचाव

 

वर्तमान के इस बदलते डिजिटल युग में Social Media हमारे दैनिक जीवन का एक अभिन्न हिस्सा बन चुका है, और मोबाईल की लत तो सबको ही लग चुकी है, तो इसके लिये आपको Phishing on Social Media के बारे में जानना बहुत जरूरी हो जाता है क्योंकि आपके फोटो, विडियो या फिर और भी डेटा किसी के पास जा सकता है तो जागरूक हो जाइए ।

phishing gyanbooster

हम सभी Facebook, Instagram, Twitter (X) जैसे प्लेटफ़ॉर्म का उपयोग अपने दोस्तों, परिवार, सहयोगियों, और यहाँ तक कि कई तरह के ब्राण्ड  से जुड़ने के लिए भी करते हैं।

शायद ही कोई ऐसा होगा जिसके पास स्मार्ट फोन हो और वह सोसल मिडिया का इस्तेमाल न करता हो, हालांकि इस व्यापक तरीके से फैले हुए सोशल मिडिया के अन्तर्जाल के बीच एक छिपा हुआ खतरा भी है जिसके बारे में आपको अवगत होना पड़ेगा ।

फिशिंग क्या होता है?

Phishing एक Online धोखाधड़ी का प्रकार है जिसमें कुछ धोखे वाले लोग व्यक्तिगत जानकारी को चोरी करने का प्रयास करते हैं, इसमें वे जालसाजी और फर्जी तकनीकों का इस्तेमाल करते हैं ताकि वे लोगों को धोखा देकर उनके पासवर्ड, बैंक खाता जानकारी, या अन्य महत्वपूर्ण जानकारी को प्राप्त कर सकें। इसमें आपके मोबाईल का फोटो व विडियो भी हो सकता है।

इसका मुख्य उद्देश्य लोगों को धोखा देकर उनके पैसे या व्यक्तिगत जानकारी को चुराना सामिल होता है। फिशिंग को आमतौर पर E-Mail, Social Media, या अन्य ऑनलाइन संचार के माध्यम किया जा सकता  है ।

फिशिंग के खतरे को समझें

Phishing एक दुर्भाग्यपूर्ण प्रयास है जिसमें व्यक्तियों की संवेदनशील जानकारी जैसे पासवर्ड, क्रेडिट कार्ड नंबर, डेविड कार्ड नम्बर या अन्य व्यक्तिगत डेटा में धोखा-धड़ी किया जाता है।  Phishing हमेशा ईमेल के साथ जुड़ा होता है, सोशल मीडिया पर फिशिंग दिन प्रतिदिन बढ़ता ही चला जा रहा है ।

सोशल मीडिया पर फिशिंग हमला

हजारो की संख्या में यूजर्स के साथ सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म्स कब्जे की मिट्टी प्रदान करते हैं जहाँ साइबर अपराधियों को अपनी कुतिया की गंध मिलती है। ये प्लेटफ़ॉर्म एक व्यापक शिकार का स्रोत प्रदान करते हैं, जिससे वह आत्मस्थ मानते हैं कि यह उपयोगकर्ता के लिए अतिरिक्त खतरा प्रस्तुत करते हैं, और इस तरह के फिशिंग हमलों के लिए प्राथमिकता रखते हैं।

phishing

सामान्य सोशल मीडिया फिशिंग तकनीक

इसमें साइबर अपराधी व्यक्तियों को धोखा देने और संवेदनशील जानकारी निकालने के लिए विभिन्न फिशिंग तकनीकों का उपयोग करते हैं। इसमें कुछ सामान्य विधाएँ शामिल होती हैं जैसे-

  • झूठे प्रोफ़ाइल: Phishing करने वाले जालसाज विश्वसनीय व्यक्ति की नकली प्रोफ़ाइल बनाते हैं ताकि उन्हें विश्वास दिलाया जा सके और उपयोगकर्ताओं के व्यक्तिगत जानकारी प्रकट करने में प्रलोभित किया जा सके, इसे आपको पहचानना पड़ेगा ।
  • हानिकारक लिंक्स: Phishing करने वाले फिशर्स झूठी वेबसाइटों के लिंक पोस्ट करते हैं जो विश्वसनीय स्रोतों के रूप में मास्क किए जाते हैं, उपयोगकर्ताओं को धोखा देने के लिए झांसा देते हैं, जिससे की इस लिंक पर क्लिक किया जा सकते इसके बाद आपका डेटा चोरी हो सकता है तो ऐसे किसी भी लिंक पर क्लिक न करें ।
  • प्रतियोगिता और सर्वेक्षण: धोखेबाजी कर्ता झूठे प्रतियोगिताओं या सर्वेक्षणों को होस्ट करते हैं जो लाभदायक पुरस्कारों का वादा करते हैं ताकि उपयोगकर्ताओं को अपनी व्यक्तिगत जानकारी साझा करने में प्रलोभित किया जा सके।
  • झूठे ऑफ़र: धोखेबाज ऑफ़र, डिस्काउंट, या रिवॉर्डों का उपयोग उपयोगकर्ताओं को धोखा देने के प्रयोग करते हैं इसमें आपको फसना नहीं है ।

Social Media Phishing प्रयासों की पहचान करने के लिए कदम स्वयं को सोशल मीडिया फिशिंग से सुरक्षित रखने के लिए, फिशिंग प्रयासों की पहचान के लिए यह महत्वपूर्ण है। यहाँ

कुछ संकेत हैं जिन पर ध्यान देना चाहिए जैसे –

  • अज्ञात संदेश: अज्ञात या संदिग्ध खातों से संदेशों पर सावधानी बरतें जो व्यक्तिगत जानकारी के लिए पूछताछ करते हैं या आपको लिंक पर क्लिक करने के लिए कहते हैं। उनको समझना होगा ।
  • अत्यावश्यक अनुरोध: Phishing करने वाले फिशर्स अक्सर अभिभावकों को बिना सोचे समझे कार्रवाही करने के लिए जल्दी की जरूरत की स्थिति को पैदा करते हैं जिससे की कोई भी बिना सोचे समझे इस पर जल्दी से क्लिक कर सके ।
  • व्याकरणिक त्रुटियाँ: फिशिंग संदेश में व्याकरणिक या शब्दनिय गलतियाँ हो सकती हैं, जो प्रामाणिकता की कमी को दर्शाती हैं।
  • अनचाहे मित्र अनुरोध: अज्ञात व्यक्तियों से आने वाले मित्र अनुरोधों (Friend Request) पर सावधानी बरतें, खासकर अगर उनके कुछ मिलते-जुलते मित्र हैं।
  • अत्यधिक अच्छा अनुरोध: अगर कोई ऑफ़र अत्यधिक अच्छा लगता है, तो यह संभावना है कि यह है ही नहीं, ऐसी सामग्री के साथ संबंधित होने से पहले सावधानी बरतें।

सोशल मीडिया फिशिंग से बचाव के उपाय

अपने आप को Social Media Phishing से सुरक्षित रखने के लिए आपको चौकन्ना रहने की आवश्यकता है।

Juice Jacking- अब हो सकता है मोबाईल चार्जिंग से खतरा

यहाँ कुछ टिप्स हैं जो आपको सुरक्षित रखने में मदद करेंगे:

  • पहचान सत्यापित करें: किसी भी तरह की व्यक्तिगत जानकारी साझा करने से पहले संदेश भेजने वाले की पहचान या ऑफ़र की वास्तविकता की पुष्टि करें, सही से जानलें की जिसको हम जानकारी साझा कर रहे हैं क्या वह सही भी है कि नहीं ।
  • दो प्रमाणीकरण सक्षम करें: अपने सोशल मीडिया खातों पर दो प्रमाणीकरण (2FA) को लागू करें ताकि आपकी सुरक्षा में एक अतिरिक्त स्तर जोड़ा जा सके।
  • खुद को शिक्षित करें: नवीनतम फिशिंग ट्रेंड्स और तकनीकों के बारे में जानकारी बनाए रखें। अपने आप को और अपने परिवार के सदस्यों को सोशल मीडिया के साथ जुड़ी खतरों के बारे में शिक्षित करें।
  • मजबूत पासवर्ड का उपयोग करें: यह सबसे महत्वपूर्ण बिन्दु है, अपने सोशल मीडिया खातों के लिए मजबूत, अद्वितीय पासवर्ड बनाएं और कई प्लेटफ़ॉर्म्स पर समान पासवर्ड का उपयोग न करें। पासवर्ड में स्पेशल कैरेक्टर, बड़े, छोटे अक्षरों का प्रयोग जरूर करें ।
  • क्लिक करने से पहले सोचें: अज्ञात स्रोतों से लिंक पर क्लिक करने या अटैचमेंट डाउनलोड करने से पहले सावधानी बरतें, खासकर अगर उन्हें कुछ संकेत मिलते हैं।

निष्कर्ष

और अन्त  में, सोशल मीडिया पर Phishing उपयोगकर्ताओं के निजी और सुरक्षा के लिए एक महत्वपूर्ण खतरा प्रस्तुत करता है। साइबर अपराधियों द्वारा अपनाये गए तकनीकों को समझकर और सक्रिय सुरक्षा उपायों को अमल में लाकर, आप अपने आप को और अपने प्रियजनों को सोशल मीडिया फिशिंग हमलों से सुरक्षित रख सकते हैं।

 

इस तरह के और भी पोस्ट के लिये हमारी वेबसाइट को फॉलो जरूर करें और अपना सुझाव व कमेंट जरूर करें ।


इसे भी पढें

Artificial Intelligence – A Beginner’s Guide to Artificial Intelligence
One Web India 2.0 Kya Hai ?
Applications of Artificial Intelligence in Everyday Life
History of Artificial Intelligence

आप हमे हमारे सोशल मिडिया पर फॉलो कर सकते हैं .

  1. Instagram

  2. Facebook

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
Samsung Galaxy M35 5G Launch, Price Kya hai ladla bhai yojna: सबको मिलेगा 10 हजार । ITI Admission 2024: कैसे प्रवेश ले सकते हैं ? ITI Admission Start 2024 Kling AI Kya hai ? Artificial Intelligence Open AI :Artificial Intelligence की अगली पीढ़ी Top Tools for SEO and blog post optimizations? Top 10 Artificial Intelligence Books in Hindi Domain Authority kaise badhayein Juice Jacking- एक साईबर हमला